🐅 शेर को जगाना, ऒर हमे सुलाना ☺ किसी के बस _की _बात नही.

🐅 शेर को जगाना, ऒर हमे सुलाना ☺ किसी के बस _की _बात नही. 🔫 ɦʊʍ _😎 वहाँ 🚶 खड़े होते हॆ, जहाँ ʍattɛʀ 👊 बड़े होते हॆ..🔫🔫 👈

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *