कभी कहा नहीं किसी से तेरे फ़साने को

कभी कहा नहीं किसी से तेरे फ़साने को
न जाने कैसे खबर हो गयी ज़माने को

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *