गैर की बातो का आखिर एतबार आ ही गया…

गैर की बातो का आखिर एतबार आ ही गया |
मेरे ज़ानिब से तेरे दिल में गुबार आ ही गया |
जानता था बेवफा खा रहा है झुठी कसम |
सादगी देख कर फिर भी एतबार आ ही गया |
जी में था ए-हस्र अब न बोलेंगे कभी |
बेवफा सामने आया तो प्यार आ ही गया||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *