ये जो दरमयां हुआ हमारे,होना ही था एक दिन

ये जो दरमयां हुआ हमारे,होना ही था एक दिन,
तुम कश्मीर सी ख़ूबसूरत और मैं ३७० सा बवाल ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *