वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है

वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है
हमने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है
आंसू मेरे थम जाये तो शौक से जाना
ऐसे में कहाँ जाओगे बरसात बहुत है